Swapping in hindi

What is Swapping in hindi :-

 

  • swapping एक ऐसी  mechanism है जिसमे एक प्रोसेस को main memory से secondary memory (डिस्क) में  अस्थाई  रूप से स्वैप  किया जा सकता है और उस मेमोरी  को अन्य प्रोसेस लिए उपलब्ध कराया जा सकता है । कुछ समय  के बाद सिस्टम प्रोसेस को वापस सेकेंडरी मेमोरी (secondary memory) से main memory में स्वैप कर देता है .

 

  • swapping का  उपयोग main memory के utilization को बेहतर बनाने के लिए किया जाता है .
  • secondary memory में  वह एरिया जहाँ swapped out प्रोसेस  store रहती है उस स्थान को swap space कहते  है।
  • swapping का उपयोग केवल तब किया जाता है जब डेटा RAM में उपस्थित न हो.
  • swapping का उद्देश्य hard disk के डाटा को एक्सेस करने  और उस डाटा को RAM में लोड करना होता है .जिससे की एप्लीकेशन प्रोग्राम इसका उपयोग के सकें..
  • सिस्टम की परफॉरमेंस में सुधार करने के लिए  हम स्वैपिंग करते है। 
  • swapping में वो प्रोसेस waiting state में होती है या temporary suspend  होती है उन्हें मेमोरी location के आउट साइड स्टोर किया जाता है ताकि प्रोसेस की स्पीड अधिक  हो | 
  • जब स्वैपिंग सिचुएशन होती है तो हम sweeper का उपयोग करते है .

स्वीपर का उपयोग किया जाता -:

  1. किसी  प्रोसेस  का चयन करना है .
  2. किसी प्रोसेस में चयन करना है.
  3. उन प्रोसेस को मेमोरी स्पेस प्रदान करना जो नए (NEW) है 

इन पोस्ट को भी पढ़े :- 

What is logical and physical address in hindi ?

segmentation in hindi

Leave a Comment