Exception Handling in hindi

Exception Handling java का एक main feature है। और यह user को run time error find करने मै help करता है।

Exception handling run time error को handle करता है। और ये आपके run होते हुए program को रोक देती है। जैसे की ClassNotFoundException, IOException, SQLException, RemoteException, etc. ये सब एक तरह की exception है।

जब program को execute होने को के लिए उसको memory space नहीं मिलता है। तब program exception वाली condition मे आजाता है।

हमें exception की आवश्यकता क्यों है?

मान लीजिए कि आपने server तक पहुंचने के लिए एक program code किया है। जब आप code develope कर रहे थे तब चीजें ठीक थीं। वास्तविक server पर program चलाने के दौरान, server down है। जब आपके program ने इसे access करने की कोशिश की, तो exception error आती है।

जब server down होता है, तो backup server से connect करें। backup server को यूज़ करने के लिए , इसे server से connect करे code enter करें (if और else condition का उपयोग करके)। निचे दिए गए example को देखिये।

class connect{
	if(Server Up){
	 // code to connect to server
	}
	else{
	 // code to connect to BACKUP server
	}
}

Java Exception Keywords

Exception handling मे आप कुछ keyword यूज़ करते है। और ये सभी keyword से मिलकर exception handling का structure बनता है।

Try

try statement आपको error के लिए test किए जाने वाले code के एक block को define करने की अनुमति देता है। try keyword आपके program का वो code है जो exception error generate करता है। try block मे आप वही कोड लिखते है। जो program आपको exception के आदि लगते है।

Catch

Catch statement आपको code के एक block को execute करने की अनुमति देता है, जब try block में कोई error होती है।

Throw

“Throw” keyword का उपयोग अपवाद फेंकने(Throw) के लिए किया जाता है।

finally

“final” block का उपयोग program के महत्वपूर्ण code को execute करने के लिए किया जाता है। Try ब्लॉक में exception आने के बाद compiler उस कोड को execute नहीं करता है और catch ब्लॉक के बाद सीधा finally ब्लॉक को execute करता है।

Leave a Comment