Database System Vs File System in hindi

File System-:

File System सामान्य फ़ाइलों को Stored करने के लिए एक सामान्य(General), आसानी से Use की जाने वाली प्रणाली(System) है जिसमें कम सुरक्षा और बाधाओं(constraints) की आवश्यकता होती है। System Permanent Records को कई Files में रखते हैं तथा किसी File से Record प्राप्त करना तथा नये record को जोड़ने के लिए अलग-अलग प्रकार के Application Program को Use करना पड़ता हैं। DBMS से पहले Systems इसी प्रकार की files में Data को Store करके रखते थे परन्तु DBMS द्वारा file system के Disadvantages को दूर किया गया व यही DBMS के Advantage होते हैं।

(1)Data Reduandancy के कारण अधिक Storage व अधिक Access Cost लगती हैं। Same Data की Various Copies की रखने से एक समय में सभी को एक साथ Update नहीं किया जा सकता। इसी समस्या को Data Inconsistency कहा जाता

(2) Difficulting in Accessing Data:- Data को Access व Retrieve करने में कठिनाई न हो इसके लिए विभिन्न Application Programs को उपयोग में लिया जाता हैं।

(3) Data Isolation:- Data व Processor को एक साथ रखने से Application Programs के द्वारा आसानी से Data को Access किया जा सकता हैं।

(4) Integrity Problem:- Data को कुछ Condition के आधार पर एक साथ DBMS में रखा जाता हैं।

(5) Atomicity Problem:- Computer System Mechanical व Electrical होने के कारण Faliure Occur हो सकता हैं। यदि Faliure Occur हो जाए तो डाटा को डाटाबेस Restore करना आवश्यक होता हैं। इसे ही Atomicity कहा जाता हैं।

(6) Security:- हर User Database के डाटा को Access नहीं कर सकता हैं। सिर्फ डाटाबेस के एक पार्ट को Access किया जा सकता हैं।

Database Management System-:

Databse management system का Use तब किया जाता है जब सुरक्षा बाधाएं(constraints) अधिक होती हैं| Databse management system में Data Redundancy कम है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *